देर रात केंद्र ने भेजी वैक्सीन की 10वीं खेप, 3.50 लाख की खुराक भेजी

रायपुर।  छत्तीसगढ़ को कोरोना वैक्सीन की 10वीं खेप मिल गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को विमान से कोरोना वैक्सीन की 3.50 लाख से ज्यादा डोज भेज दी है। पिछली खेप 27 मार्च को भेजी गई थी। जिसमें 44 बक्सों में 3.50 लाख वैक्सीन मिली थी। प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए वैक्सीनेशन प्रक्रिया तेजी से छत्तीसगढ़ में जारी है।

बता दें कि छत्‍तीसगढ़ में 45 वर्ष से अधिक आयु समूह के लोगों को वैक्सीन लगने लगी है। अब तक इस आयु समूह में 21 लाख 23 हजार 192 लोगों को पहली डोज लग चुकी है तथा 32 हजार 861 को दूसरी डोज भी लगाई जा चुकी है।

लेकिन लोगों के मन में यह भ्रांति है कि वैक्सीन लगने के बाद वे पूरी तरह सुरक्षित है, जबकि यूनीसेफ और अन्य विषेश्ज्ञ भी यह लगातार कह रहे हैं कि वैक्सीन, कोविड 19 संक्रमण होने के बाद की गंभीर स्थिति से बचाता है, संक्रमण से नहीं बचाता है

यूनीसेफ के स्वास्थ्य विषेशज्ञ डाक्‍टर श्रीधर ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचने का सबसे सही उपाय है कि चाहे किसी को वैक्सीन लगी हो या नहीं। मास्क सही तरीके से लगाएं। साबुन पानी से नियमित हाथ धोएं और दूसरों से दो गज की सुरक्षित दूरी रखें। इसके अलावा हल्के लक्षण जैसे सर्दी,खांसी,बुखार, थकान, भूख न लगना आदि पर भी तुरंत कोरोना जांच करानी चाहिए।

इधर, राजधानी रायपुर में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले को देखते हुए जिला प्रशासन ने अहम फैसला लिया है। रायपुर में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर बाकी सभी दुकानें शाम छह बजे के बाद बंद रहेंगी। यदि छह बजे के बाद बेवजह कोई सड़क या घर से बाहर घूमता मिला, तो उसका रास्ते में ही कोरोना टेस्ट लिया जाएगा। फिर उसे पॉजिटिव पाए जाने पर कोविड सेंटर या अस्पताल ले जाया जाएगा।