ब्रेकिंग
केरल में भारी बारिश, IMD ने जारी किया येलो अलर्ट; खोले गए 2 बांध जयपुर से लौटे रमन, कहा- भाई-भतिजावाद और परिवारवाद की वजह से कांग्रेस की हुई ये स्थिति अब इस प्राइवेट सेक्टर के बैंक ने एफडी की ब्याज दरों में की बढ़ोतरी, जानें लेटेस्ट ब्याज दर NIA अफसर तंजील अहमद मर्डर केस में मुनीर और रैयान को फांसी की सजा ज्ञानवापी मामले में ‘शिवलिंग’ पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले प्रोफेसर रतन लाल को ज़मानत, जानें कोर्ट में क्या-क्या हुआ पेटीएम को हुआ 762 करोड़ रुपये का घाटा, कंपनी ने कहा- सही रास्ते पर कारोबार जिला जज को हैंडओवर की ज्ञानवापी केस की रिपोर्ट UP विधानसभा लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करेगी : सतीश महाना 'ठेके-पटटे, तबादला-तैनाती' से रहें दूर : सीएम योगी ईयर फोन का ज्यादा इस्तेमाल हो सकता है खतरनाक, कानों को हो सकते हैं ये गंभीर नुकसान

राजधानी रायपुर में कोरोना का कोहराम, 3797 मरीज, 42 की मौत

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी में कोरोना ने हाहाकार मचा दिया है। 24 घंटे में आए आंकड़ों ने पुराने सारे रिकार्ड तोड़ दिए। संक्रमितों की संख्या के अलावा मौत के डरावने आंकड़े सामने आए हैं। रायपुर में कुल 3,797 मरीज मिले हैं। वहीं एक दिन में सर्वाधिक 42 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। वहीं 10 अस्पताल की डिस्चार्ज हुए हैं। वहीं 1015 ने होम आइसोलेशन की अवधि पूरी। रायपुर में अब भी संक्रमितों की संख्या 21,329 है। अब तक रायपुर में कुल 1155 मरीज कोरोना से जंग हार चुके हैं।

संक्रमित पिता के लिए फल लेने भटकता रहा नौ सेना का जवान

लाकडाउन के बीच कड़ाके की धूप में भारतीय नौ सेना का जवान प्रिंस पांडेय पीपीई किट पहनकर बाइक से एक चौराहे से दूसरे चौराहे पर घंटों भटकता रहा। पुलिस जवानों ने उसे रोककर पूछा तो उसने बताया कि पिता अंगद पांडेय कोरोना संक्रमित हैं। जीई रोड स्थित एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। उनके लिए वह फल लाने निकला था, लेकिन दुकान बंद होने से भटक रहा है।

प्रिंस ने बताया कि वह नासिक में पदस्थ है। पिता की देखरेख करने आया है। शहर के घड़ी चौक, शारदा चौक, तेलीबांधा समेत कई जगहों पर फल की तलाश में गया, लेकिन कहीं नहीं मिला। प्रिंस का कहना था कि प्रशासन को कुछ देर के लिए फलों की दुकान खोलने की अनुमति देनी चाहिए।

मेरी तरह कई लोग इसी तरह की चीजों के लिए परेशान हो रहे हैं। सरकार को मरीजों के लिए कुछ करना चाहिए। मरीजों के लिए फल काफी जरूरी हैं। आखिरकार आंबेडकर अस्पताल के पास उसे केले मिले।