ब्रेकिंग
शेयर बाजार में फिर गिरावट का दौर जारी मुख्यमंत्री चौहान संबल योजना के नये स्वरूप संबल 2.0 के पोर्टल का करेंगे शुभारंभ राहुल गांधी ने ऐसे कोई संकेत नहीं दिए कि वो पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ेंगे कांग्रेस चिंतन शिविर: राजस्थान से रायपुर लौटे CM बघेल, एयरपोर्ट पर कांग्रेसियों ने मिठाई खिलाकर किया स्वागत बैंक में पैसा जमा करने व निकालने के संबंध में लाया गया नया नियम, 26 मई से होगा प्रभावी मौनी रॉय की इन तस्वीरों पर दिल हारे फैंस, समुद्र के बीच से शेयर की ग्लैमरस PICS आज फिर बढ़ी सीएनजी की कीमतें CG में जिगरी दोस्त बने दुश्मन: साथियों ने बीच सड़क अपने दोस्त का मुंह किया काला, पीड़ित ने रो-रोकर पुलिस से बताई आपबीती रूह कंपा देने वाली घटना: यात्री बस ने बाइक सवारों को रौंदा, मां और बच्ची की मौके पर ही दर्दनाक मौत बिटक्वाइन 30 हजार डॉलर के नीचे अटका, Dogecoin, Shiba Inu, Solana भी गिरे

लाक हुआ अंबिकापुर, सड़कों पर पसरा सन्नाटा

अंबिकापुर। कोरोना संक्रमण की रफ्तार रोकने और उसका चेन तोड़ने के लिए सरगुजा और सूरजपुर जिले में मंगलवार सुबह छह बजे से संपूर्ण लाकडाउन शुरू हो गया है। संभाग मुख्यालय अंबिकापुर में सुबह 6.30 बजे से आठ बजे तक दुग्ध वितरण के लिए छूट मिलने के कारण डेढ़ घंटे तक शहर में थोड़ी आवाजाही बनी रही लेकिन आठ बजने के बाद शहर में सन्नाटा पसर गया।

आज से अगले 10 दिनों तक जिले में आवाजाही पूरी तरह बंद रहेगी। जरूरी सेवाओं के लिए प्रशासन ने अलग-अलग अधिकारियों की टीम तैयार की है। सरगुजा जिले में पिछले कुछ दिनों से तेजी से कोरोना के संक्रमित बढ़ रहे थे। मौतों का आंकड़ा भी लगातार बढ़ने से आखिरकार जिला प्रशासन ने 13 अप्रैल से 23 अप्रैल तक सरगुजा जिले में संपूर्ण लॉक डाउन करने की घोषणा कर दी।

इसके साथ ही सूरजपुर जिले में भी 10 दिनों का लाकडाउन 13 अप्रैल से शुरू हो गया है। बलरामपुर जिले में बुधवार से लाक डाउन शुरू होगा। पहले दिन अंबिकापुर में सुबह डेढ़ घंटे के लिए दूध वितरण का समय निर्धारित करने के कारण थोड़ी बहुत आवाजाही बनी रही लेकिन निर्धारित समय के बाद सड़कों में सन्नाटा पसर गया। प्रमुख चौक—चौराहों में पुलिस के जवान तैनात किए गए हैं।

अधिकारियों की टीम भी शहर में निगरानी कर रही है। लोगों के लिए जरूरी सेवाएं मुहैया कराने के लिए कलेक्टर संजीव झा ने अलग-अलग अधिकारियों की ड्यूटी लगाते हुए उनके फोन नंबर भी सार्वजनिक किए हैं ताकि लोगों को 10 दिनों के अंदर होने वाली परेशानी से राहत मिल सके।

आज से नवरात्रि भी शुरू हो गई है। पहले दिन मंदिरों में पूजा अर्चना पुजारियों के द्वारा की गई लेकिन श्रद्धालु मंदिर तक नहीं पहुंचे। लाकडाउन के कारण श्रद्धालुओं को मंदिरों में प्रवेश वर्जित कर दिया गया है और उन्हें घरों में ही मां की आराधना करने का आग्रह किया गया है।