ब्रेकिंग
गर्मी के चलते वेस्टर्न रेलवे ने 12 एसी लोकल ट्रेनें शुरू की, जानें कहां से कहां तक हैं ये ट्रेन पुलिस की सराहनीय पहल, प्रतिभावान छात्राओं के घर-घर जाकर किया सम्मानित, बच्चों ने आईएएस, डाॅक्टर व सीए बनने की जताई ईच्छा MP में तालों में कैद भगवान! MLA आकाश विजयवर्गीय बोले- जल्द खुलेगा बोलिया सरकार छत्री का शिव मंदिर एलपीजी गैस सिलेंडर पर लेना चाहते हैं सब्सिडी, फॉलो करें यह आसान प्रोसेस सूरज की तपिश से बादलाें ने दिलाई राहत बोरिंग माफियाओं की मनमानी से इंदौर में गहराया जल संकट नहीं रोक लगा पा रहा नगर निगम, आज भी रोजाना हो रहे 20-25 अवैध बोरिंग चीनी विमान जानबूझकर नीचे लाकर क्रैश कराया गया था श्रीराम सेना का दावा- कर्नाटक में 500 अवैध चर्च ग्राम देवादा में जल सभा का आयोजन एक ही परिवार के 3 लोगों के मर्डर का खुलासा, परिजन ही निकले हत्यारे, ये बनी हत्या की वजह

तीन हजार की सीटी स्कैन के वसूल रहा था पांच हजार रुपये, एसडीएम ने वापस दिलाए

भोपाल। राजधानी के शिवाजी नगर स्थित वीनस सीटी स्कैन सेंटर पर कोरोना के लिए चेस्ट के सीटी स्कैन के 42 सौ रुपए से लेकर पांच हजार रुपए तक लिए जा रहे थे। इस मामले की शिकायत जिला प्रशासन के कंट्रोल रूम में की गई। शिकायत पर एसडीएम कोलार क्षितिज शर्मा सहित एसडीएम एमपी नगर विनीत तिवारी और तहसीलदार मनीष शर्मा मौके पर पहुंच गए। उन्होंने जिला प्रशासन की टीम के साथ यहां छापामार कार्रवाई की। जिसमें इस बात की पुष्टि हुई कि सरकार द्वारा निर्धारित राशि से ज्यादा वसूला जा रहा है। पुष्टि के बाद वीनस सीटी स्कैन सेंटर संचालक तरह-तरह के बहाने बनाने लगा कि उसकी स्कैन मशीन सबसे अपडेट है। सरकार द्वारा निर्धारित दरों का उसे पता नहीं था। इस पर एसडीएम एमपी नगर विनीत तिवारी जिन लोगों से अधिक पैसे लिए है उसे वापस लौटाया जाए। इस पर पदमा एवं अंकुर मिश्रा से ली गई अधिक दो-दो हजार रुपये संचालक ने वापस कर माफी मांगी। एसडीएम ने बताया कि सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सीटी स्कैन कराया जाता है। जिसके लिए सेंटरों पर सीटी कराने वालों की भीड़ लगी हुई है। ऐसे में सीटी स्कैन सेंटरों पर मनमाने दाम वसूल किए जा रहे हैं। जिसकी शिकायत के बाद टीम ने सेंटर के संचालक को समझाइश देकर बताया कि अब चेस्ट के सीटी स्कैन के लिए तीन हजार रुपए से ज्यादा नहीं लिए जाने चाहिए। इधर, सेंटर को सील किया जा रहा था लेकिन यहां उपस्थित लोगों ने सेंटर सील न करने का अनुरोध किया। इसके चलते सात दिन की मोहलत देकर सील नहीं किया गया है। अगर भविष्य में इस तरह की शिकायत मिलती है तो इसे सील कर दिया जाएगा

ऑनलाइन डिलीवरी के नाम दुकान से ही बांट रहे थे किराना, प्रशासन ने सात दुकानें की सील

इधर, एसडीएम टीटी नगर संजय श्रीवास्तव ने बताया कि शहर में कोई भी किराना दुकान खुली नहीं रखना है। कोरोना कर्फ्यु के दौरान इस संबंध में स्पष्ट आदेश जारी किए गए है। इसके बावजूद न्यू मार्केट में सात दुकान संचालक ऑनलाइन डिलीवरी के नाम पर दुकान खोलकर लोगों को दुकान से ही किराना का सामान बेंच रहे थे। आधी शटर गिराकर अंदर से सामान दिया जा रहा था। इसकी सूचना मिलने पर तत्काल कार्रवाई करते हुए सातों किराना दुकान को तीन मई तक के लिए सील कर दिया गया है। इसमें न्यू मार्केट स्थित गुरुनानक किराना, हरीश ऑयल स्टोर, शिव प्रोविजन स्टोर, अनिल प्रोव्हीजन स्टोर सहित तीन अन्य किराना दुकान के नाम शामिल है।