ब्रेकिंग
विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... Selecting the right Virtual Info Room Supplier रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... Making a Cryptocurrency Beginning अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी ट्रक चोरी करने वाले 06 आरोपियो को किया गया गिरफ्तार, मंडी के पास लिंक रोड के किनारे खड़ी ट्रक को किया था चोरी, उड़ीसा से हुई बरामद

विधानसभा अध्‍यक्ष व भाजपा नेताओं ने व्यक्त की गहरी संवेदना, बताया अपूरणीय क्षति

रायपुर। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की भतीजी करुणा शुक्ला का सोमवार देर रात निधन हो गया। कोरोना संक्रमण के कारण करुणा शुक्ला छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती थी। निधन की खबर मिलते ही हर कोई शोक प्रकट कर रहा है। विधानसभा अध्‍यक्ष, कांग्रेस और भाजपा के नेताओं ने भी शोक व्‍यक्‍त किया है

भारतीय जनता पार्टी ने करुणा शुक्ला के आकस्मिक निधन को अपूरणीय क्षति बताया और गहरी संवेदना व्यक्त की है। प्रदेश भाजपाध्यक्ष विष्णुदेव साय ने पूर्व सांसद एवं वरिष्ठ नेत्री करुणा शुक्ला के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। साय ने कहा कि अपने नाम के अनुरूप ही वे करुणा की मूर्ति थी।

राजनीति से अलग करुणा जी का स्नेह हम सबको प्राप्त था। उन्होंने कहा कि करुणा दीदी के रूप में हमने आज एक एक मुखर आवाज़, स्त्री शक्ति की एक प्रखर प्रतीक को खोया है। इस क्षति की भरपाई कठिन है। दीदी के आकस्मिक निधन से भाजपा शोकाकुल है।

भाजपा की राष्ट्रीय महामंत्री व प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी ने करुणा शुक्ला जी के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है। उन्होंने कहा कि राजनीति के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाने वाली, कुशल संगठनात्मक क्षमता की धनी, बेबाक और निडर नेत्री, मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि देश में अपनी अलग पहचान बनाने वाली कुशल नेत्री अब हमारे बीच नहीं रही, यह हम सभी के लिए अपूरणीय क्षति है।

उनकी कमी हमेशा महसूस होती रहेगी, ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान प्रदान करें व हम सभी को इस दुःख को सहने की शक्ति प्रदान करें। पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने कहा कि एक कुशल नेत्री, अद्भुत संगठनात्मक क्षमता की धनी विधायक, सांसद के रूप में जनता की सच्ची प्रतिनिधि करुणा जी हमेशा जनहित के लिए आवाज बुलंद करती रही।

पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल जी की भतीजी होने के बावजूद भी राजनीतिक सामाजिक और संगठन के क्षेत्र में अपनी नेतृत्व क्षमता अद्भुत राजनीतिक समझ व कुशलता के दम पर अपनी अलग छवि स्थापित करने वाली नेत्री का असमय निधन हम सभी के लिए अपूरणीय क्षति है। उन्होंने कहा कि उनके साथ काम करने का लंबा अनुभव उनकी यादों के रूप में हमेशा हमारे हृदय में जीवित रहेगा। उनके संगठनात्मक कौशल को हमने करीब से देखा है।

भाजपा के राष्ट्रीय पदों को सुशोभित करते हुए कार्यकर्ताओं की चिंता, विधायक, सांसद के रूप में जनता की चिंता उत्कृष्ट विधायक चुना जाना उनकी कार्य कुशलता और समर्पण की भावना को दर्शाता रहा। उन्होंने कहा कि करुणा जी मुझे राखी बांधती थी। वे ऐसी नेत्री रहीं, जिन्होंने सहयोगी और विरोधी दोनों ही भूमिका में कुशलता के साथ मेरा मार्गदर्शन किया। मंडल से लेकर राष्ट्रीय दायित्व तक हर भूमिका में उन्होंने अपने सरोकार और सांगठनिक क्षमता का परिचय दिया। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान प्रदान करें और परिजनों को यह कष्ट सहन करने की शक्ति दें।

जानिए विधान सभा अध्यक्ष डाक्‍टर महंत ने क्‍या कहा

छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने अविभाजित मध्यप्रदेश की पूर्व विधायक, सांसद एवं प्रदेश की कद्दावर नेता करुणा शुक्ला के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। अपने संदेश में डॉ. महंत ने कहा कि शुक्ला ने हमेशा मूल्यों की राजनीति की। उन्होंने सदैव अपने क्षेत्र एवं प्रदेश की समस्याओं को मुखरता से सदन में उठाया और उनके निराकरण के लिए सदैव प्रयासरत रहीं। करुणा शुक्ला को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्होंने ईश्वर से प्रार्थना की है कि विपत्ति की इस घड़ी में उनके शोक संतप्त परिजनों को इस असीम दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।