ब्रेकिंग
सोमवार के दिन भाग्य में होगी वृद्धि या आर्थिक रूप से होगा नुकसान, पढ़ें, आज का अपना राशिफल शेयर बाजार में फिर गिरावट का दौर जारी मुख्यमंत्री चौहान संबल योजना के नये स्वरूप संबल 2.0 के पोर्टल का करेंगे शुभारंभ राहुल गांधी ने ऐसे कोई संकेत नहीं दिए कि वो पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ेंगे कांग्रेस चिंतन शिविर: राजस्थान से रायपुर लौटे CM बघेल, एयरपोर्ट पर कांग्रेसियों ने मिठाई खिलाकर किया स्वागत बैंक में पैसा जमा करने व निकालने के संबंध में लाया गया नया नियम, 26 मई से होगा प्रभावी मौनी रॉय की इन तस्वीरों पर दिल हारे फैंस, समुद्र के बीच से शेयर की ग्लैमरस PICS आज फिर बढ़ी सीएनजी की कीमतें CG में जिगरी दोस्त बने दुश्मन: साथियों ने बीच सड़क अपने दोस्त का मुंह किया काला, पीड़ित ने रो-रोकर पुलिस से बताई आपबीती रूह कंपा देने वाली घटना: यात्री बस ने बाइक सवारों को रौंदा, मां और बच्ची की मौके पर ही दर्दनाक मौत

महिला पुलिसकर्मी द्वारा युुवक की पिटाई पर मानव अधिकार आयोग ने मांगी रिपोर्ट

इंदौर। महिला पुलिसकर्मी द्वारा सड़क पर एक युवक की पिटाई के मामले में मानव अधिकार आयोग ने डीआइजी इंदौर से रिपोर्ट मांगी है। युवा कांग्रेस के पदाधिकारी और एडवोकेट अभीजित पांडे ने वायरल हो रहे एक वीडियो के आधार पर राजेंद्र नगर टीआइ अमृतासिंह सोलंंकी की शिकायत मानव अधिकारी आयोग को कर दी थी। दो दिनन से इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में महिला पुलिसकर्मी एक जवान की मौजूदगी में सड़क पर अकेले युवक को लाठी से पीटते और धमकाते नजर आ रही है।

पांडे ने आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति नरेंद्र जैन को मामले में शिकायत भेजी थी। पांडे ने शिकायत में लिखा है कि संंभवत: बीते दिनों के नाइट लाकडाउन के दौरान बाहर निकलेे इस युवक को बेरहमी से पीटा गया। युवक के सिर पर डंंडा मारा और गिरने पर उसे धमकाकर उठने पर मजबूर कर फिर से पिटाई की गई।

कोरोना गाइडलाइन का पालन करवाने के नाम पर पुलिस इस तरह का अत्याचार नहीं कर सकती। इसके बाद आयोग की ओर से बयान जारी कि गया कि आयोग ने इस संज्ञान लेते हुए प्रकरण दर्ज कर लिया है। आयोग ने घटना की सीडी भी इंदौर पुलिस को भेेज दी है। उप पुलिस महानिरीक्षक से आयोग ने 3 मई तक मामले में रिपोर्ट पेेश करने के निर्देश दिए हैं।