Jain
ब्रेकिंग
महू में दो गुटों में विवाद के बाद बम फोड़ा; 2 की मौत, 15 से ज्यादा घायल रोटी भी बदल सकती है किस्मत डीजीपी का सिल्वर मेडल भी आज लखनऊ में देंगे एडीजी जोन,खुशी की लहर देर शाम आई सभी के पास प्रशासन फोन कॉल, 30 स्वतंत्रता सेनानियों के आश्रितों किया गया था आमंत्रित आजादी के अमृत महोत्सव के लिए रंग बिरंगी रोशनियों से सजा ग्वालियर दुगरी फेस-1 में हुआ हमला,अदालत में गवाही न देने के लिए हमलावर बना रहे थे दबाव भाजयुमो के मंत्री ने कार के सन रूफ से निकलकर झंडे की फोटो की थी पोस्ट 100 फूट ऊंचा लहरा रहा तिरंगा,लाइटों से जगमगाया शहर, दुल्हन की तरह सजी सड़कें रैली निकालकर लगाए भारत माता की जयकारे, बच्चों और ग्रामीणों ने किया समरसता भोज राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने किया ध्वजारोहण

सीबीएसई ने सुप्रीम कोर्ट को बारहवीं की वैकल्पिक परीक्षा का सौंपा विवरण, जानें- कब आएगा रिजल्ट

नई दिल्ली। सीबीएसई के बारहवीं के मूल्यांकन और रिजल्ट से संतुष्ट न होने वाले छात्र वैकल्पिक परीक्षा दे सकते हैं। अगर परिस्थितियां ठीक रहीं तो वैकल्पिक परीक्षा 15 अगस्त से 15 सितंबर के बीच होगी। वैकल्पिक लिखित परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए परीक्षा में मिले अंक ही अंतिम माने जाएंगे।

सीबीएसई ने सुप्रीम कोर्ट से कहा- 12वीं का रिजल्ट 31 जुलाई तक, इम्प्रूवमेंट परीक्षाएं भी होंगी

ये जानकारी सीबीएसई ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट को दी। सीबीएसई ने कोर्ट को बताया कि कोर्ट के सुझाव के मुताबिक मूल्यांकन नीति में ये चीजें शामिल कर दी गई हैं। बोर्ड ने कोर्ट को बताया कि बारहवीं का रिजल्ट 31 जुलाई तक घोषित कर दिया जाएगा।

रिजल्ट से असंतुष्ट छात्र दे सकते हैं वैकल्पिक परीक्षा

जो लोग रिजल्ट और मूल्यांकन से संतुष्ट नहीं होंगे वे वैकल्पिक परीक्षा दे सकते है। इस परीक्षा में शामिल होने वालों के लिए लिखित परीक्षा के अंकों को ही अंतिम माना जाएगा। वैकल्पिक परीक्षा के लिए आनलाइन रजिस्ट्रेशन होगा। वैकल्पिक परीक्षा परिस्थितियां ठीक होने पर सिर्फ मुख्य विषयों की ही होंगी। सीबीएसई ने कोर्ट को विवाद निवारण तंत्र की जानकारी देते हुए बताया कि एक कमेटी रिजल्ट पर छात्रों की आपत्तियां देखेगी।

आइसीएसई बोर्ड ने भी सुप्रीम कोर्ट को कहा- 12वीं का रिजल्ट 31 जुलाई के पहले होगा घोषित

आइसीएसई बोर्ड ने भी सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि बारहवीं का रिजल्ट 31 जुलाई के पहले घोषित कर दिया जाएगा। मूल्यांकन और रिजल्ट से संतुष्ट न रहने वाले छात्र सुधार के लिए इम्प्रूवमेंट परीक्षा दे सकते हैं। रिजल्ट घोषित होने के बाद जल्दी से जल्दी इम्प्रूवमेंट परीक्षा कराई जाएगी।

इम्प्रूवमेंट परीक्षा एक सितंबर से पहले

हालात सही रहने पर इम्प्रूवमेंट परीक्षा एक सितंबर से पहले करा ली जाएगी। इस परीक्षा का कार्यक्रम परीक्षा से पहले जारी किया जाएगा। विवाद निवारण तंत्र की भी जानकारी दी है और कहा है कि कोर्ट के निर्देशानुसार इन सब चीजों को नीति में शामिल कर दिया गया है।

पीठ ने सभी याचिकाओं को जून 22 को सुनवाई पर लगाने का दिया आदेश 

सोमवार को मामले पर सुनवाई के दौरान पैरेन्ट एसोसिएशन और अन्य छात्रों की ओर से मूल्यांकन प्रक्रिया पर कई सवाल उठाए गए। पैरेन्ट एसोसिएशन की ओर से पेश वरिष्ठ वकील विकास सिंह ने कहा कि कई और रिट याचिकाएं इस संबंध में दाखिल हुई हैं जो कि अभी कोर्ट के सामने सुनवाई पर नहीं लगी हैं। पीठ ने सभी याचिकाओं को मंगलवार को सुनवाई पर लगाने का आदेश देते हुए सुनवाई स्थगित कर दी।

असम, त्रिपुरा और कर्नाटक ने बोर्ड की परीक्षाएं निरस्त की जानकारी कोर्ट को दी

इसके अलावा असम, त्रिपुरा और कर्नाटक की ओर से सोमवार को कोर्ट को बताया गया कि स्टेट बोर्ड की परीक्षाएं निरस्त कर दी गई हैं। इस मामले पर भी मंगलवार को सुनवाई होगी।