ब्रेकिंग
Essay Help From Licensed Authors Come affrontare Nervosismo estremo मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गांधी जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना 'महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क योजना' के शुभारंभ महिला श्रमिक की मौत पर की खबर के बाद जागे परिवहन विभाग और ट्रैफिक पुलिस, नामली थाना क्षेत्र में की कार्रवाई AIIMS : ड्यूटी के दौरान मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर बैन अब तक 7 के शव बरामद, आईएएफ ने 2 चीता हेलीकॉप्टर किए तैनात, 8 लोगों का सफल रेस्क्यू क्या Pavitra Punia- Ejaz Khan ने  कर ली सगाई? दशहरे के दिन ही खुलता है रावण के इस मंदिर का द्वार खुद स्टार्ट किया पम्पिंग सेट, कहा- पशुओं में दूध की होती है वृद्धि हटाए गए कर्मियों को नौकरी देने की मांग, 19-20 को करेंगे भूख हड़ताल

स्वास्थ्य सचिव ने दी हिदायत, त्योहारों में सतर्क रहें, अभी खत्म नहीं हुई दूसरी लहर

देश के तमाम राज्यों में अनलॉक की प्रक्रिया शुरु हो गई है और लोगों में कोरोना को लेकर थोड़ी निश्चिंतता दिखने लगी है। स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने इस बारे में लोगों को चेतावनी देते हुए कहा कि अभी कोरोना की दूसरी लहर खत्म नहीं हुई है। इसलिए लोगों को खास तौर पर त्योहारों के समय ज्यादा सतर्क रहना चाहिए।स्वास्थ्य सचिव ने साफ शब्दों में कहा कि हर त्योहार में केस बढ़ जाते हैं। सितम्बर और अक्टूबर में त्योहार हैं. ऐसे में हमें सतर्क रहना है। आज भी 46,164 नए मामले सामने आए हैं, जिसमें से 58% केस केरल से है। 41 जिले ऐसे है जहां से 100 से ज्यादा केस आ रहे हैं.

सरकार क्या कर रही है उपाय?

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि त्योहारों की नजदीकी देखते हुए कोविड नियमों का पालन करना चाहिए। साथ ही केरल समेत पूरे देश में वैक्सीनेशन में तेजी लाने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटे में वैक्सीन की 80 लाख से ज्यादा खुराकें दी गई हैं। आज भी अब तक वैक्सीन के 47 लाख डोज दिये जा चुके हैं।

भयावह नहीं है कोरोना की स्थिति

    • स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि एक्टिव केस की संख्या लगतार घट रही है।
    • देश में कोरोना से रिकवरी रेट 97 फीसद से ज्यादा है।
    • केवल 1 राज्य केरल में एक लाख से ज्यादा एक्टिव केस हैं।
    • 4 राज्य ऐसे हैं जहां 10 हज़ार से 1 लाख एक्टिव केस हैं, जबकि 31 राज्यों में 10 हज़ार से कम केस हैं।
  • केरल में कुल एक्टिव केस का 51.9%, महाराष्ट्र में 16.01%, कर्नाटक में 5.8% और तमिलनाडु में 5.5% है। सिर्फ 41 जिलों में वीकली पॉजिटिविटी रेट 10% से ज्यादा है।