ब्रेकिंग
मुलायम सिंह यादव मेदांता अस्पताल में हैं भर्ती संजय गांधी टाइगर रिजर्व में बढ़ रही बाघों की संख्या, सैलानियों में भी हो रहा इजाफा सफीदों रोड पर 4 लोगों ने किया हमला, कोर्ट के आदेश पर FIR 50 लोगों को ट्रॉली में बेठाकर सड़क पर दौड़ रहा ट्रैक्टर, मूकदर्शक बनी पुलिस नॉर्थ कोरिया ने जापान के ऊपर से दागी बैलिस्टिक मिसाइल विद्याधाम परिसर गूंज रहा मां पराम्बा के जयघोष एवं स्वाहाकार की मंगल ध्वनि से वीडियो वायरल : एयरपोर्ट पर करीना कपूर के साथ बदसलूकी.. इस देवी मंदिर में है 51 फीट ऊंचे दीप स्तंभ, जान जोखिम में डालकर इन्हें कैसे जलाते हैं मां वैष्णो के दरबार में पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह हर रूप में स्त्री का सम्मान करने से प्रसन्न होती हैं मां जगदंबा

आर.पी. सिंह ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- कांग्रेसी नेताओं का पाकिस्तान प्रेम कौतूहल का विषय

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता आर.पी. सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा है कि कांग्रेसी नेताओं का पाकिस्तान प्रेम कौतूहल का विषय है। उन्होंने कहा कि पंजाब प्रांत के प्रभारी व  उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने पाकिस्तानी प्रेम को उजागर करते हुए पाकिस्तानी आर्मी चीफ कमर बाजवा को पंजाबी भाई और नवजोत सिंह सिद्धू का दोस्त बताया। इससे पूर्व भी कई वरिष्ठ कांग्रेसी नेता इसी तरह के बयान देकर अपना पाकिस्तान प्रेम दर्शा चुके हैं। आर.पी. सिंह ने कहा कि कांग्रेस के सीनियर नेता मणिशंकर अय्यर 2015 में पाकिस्तान गए थे और वहां कहा कि अगर पाकिस्तान को भारत से सीधा संवाद करना है तो मोदी सरकार को हटाना होगा और कांग्रेस की सरकार को लाना होगा। जम्मू-कश्मीर हुर्रियत के अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी का निधन हो गया तो पाकिस्तानीप्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तान में एक दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा की। पाकिस्तान के इस कृत्य पर कांग्रेस ने अपनी खुशी जाहिर कर अपने पाकिस्तानी प्रेम को दर्शा दिया।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 व 35ए हटाने पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि सरकार ने एकतरफा फैसला लिया है, जिससे राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है। इतना कहने से ही राहुल गांधी पाकिस्तान में हीरो बन गए।  पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वर्तमान अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के एक सलाहकार मलविंदर सिंह माली  ने अपनी फेसबुक पोस्ट पर कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग माना ही नहीं है। वहीं सिद्धू के दूसरे सलाहकार प्यारेलाल ने कहा कि पाकिस्तान के प्रति कोई टिप्पणी मत करो, यह पंजाब के हित के खिलाफ है, कांग्रेस आलाकमान इन विवादित टिप्पणियों पर चुप्पी साधे रहता है। नवजोत सिंह सिद्धू सरेआम खुले मंच से ‘नारा- ए- तकबीर अल्लाह हू अकबर’ का नारा लगाते हैं। एक विशेष वर्ग की वोटों को साधने की चाहत ने इनकी अपनी राजनीति को रसातल पर धकेल दिया है। आर.पी. सिंह ने कहा कि उक्त प्रकरणों से ऐसा प्रतीत होता है कि कांग्रेस पार्टी और पाकिस्तान के बीच देश विरोधी अभियान चलाने के लिए कोई गुप्त अलायंस तो नहीं है?

नवजोत सिंह सिद्धू ने बाजवा को लगाया था गले
पंजाब प्रदेश कांग्रेस के वर्तमान सिपहसालार नवजोत सिंह सिद्धू ने अगस्त  2018 में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तानी आर्मी चीफ कमर बाजवा को गले लगाकर अपनी खुशी जाहिर की और पाकिस्तान के स्थानीय मीडिया में यह बयान दिया कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान का कोई हाथ नहीं है। सिद्धू ने तो पाकिस्तान में यहां तक कह दिया कि आतंकवाद का न धर्म होता है, न मजहब होता है, न देश होता है। भारत वापस आने पर कांग्रेस के सीनियर लीडर शशि थरूर, रणदीप सुर्जेवाला, कपिल सिब्बल ने सिद्धू की पीठ थपथपाई। उस वक्त के पंजाब सूबे के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने नाराजगी जाहिर की तो सिद्धू ने कैप्टन को टकासा जवाब दे दिया कि मेरे कप्तान राहुल गांधी हैं और मैं राहुल गांधी के कहने पर ही पाकिस्तान गया था।