ब्रेकिंग
संजय गांधी टाइगर रिजर्व में बढ़ रही बाघों की संख्या, सैलानियों में भी हो रहा इजाफा सफीदों रोड पर 4 लोगों ने किया हमला, कोर्ट के आदेश पर FIR 50 लोगों को ट्रॉली में बेठाकर सड़क पर दौड़ रहा ट्रैक्टर, मूकदर्शक बनी पुलिस नॉर्थ कोरिया ने जापान के ऊपर से दागी बैलिस्टिक मिसाइल विद्याधाम परिसर गूंज रहा मां पराम्बा के जयघोष एवं स्वाहाकार की मंगल ध्वनि से वीडियो वायरल : एयरपोर्ट पर करीना कपूर के साथ बदसलूकी.. इस देवी मंदिर में है 51 फीट ऊंचे दीप स्तंभ, जान जोखिम में डालकर इन्हें कैसे जलाते हैं मां वैष्णो के दरबार में पहुंचे गृह मंत्री अमित शाह हर रूप में स्त्री का सम्मान करने से प्रसन्न होती हैं मां जगदंबा Navratri Durga Ashtami: दुर्गाष्टमी आज, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और कन्या पूजन महत्व

क्या कांग्रेस के अरुण और बीजेपी के कैलाश के बीच होगा लोकसभा उपचुनाव?

भोपाल: मध्यप्रदेश में तीन विधानसभा और एक लोकसभा का उपचुनाव होना है। उसको लेकर दोनों प्रमुख दलों में दावेदारों ने जोर अजमाइश शुरू कर दी है। इसी कड़ी में लोकसभा उपचुनाव के लिए कांग्रेस की ओर से पहला नाम अरुण यादव का  सामने आ रहा है। आज दिग्विजय सिंह ने भी उनको ट्वीट कर शुभकामनाएं दे दी हैं। इससे कहीं ना कहीं यह साफ हो रहा है कि खंडवा लोकसभा से कांग्रेस के लिए अरुण यादव प्रत्याशी हो सकते हैं। वहीं दूसरी और बीजेपी से बड़ा चौंकाने वाले नाम सामने आ रहा है और वह नाम है बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का। यूं तो कैलाश विजयवर्गीय से जब भी लोकसभा उपचुनाव लड़ने का पूछा गया उन्होंने हमेशा मना किया है लेकिन यह माना जा रहा है कि अगर कांग्रेस से अरुण यादव को प्रत्याशी बनाया जाता हैं तो उनके सामने मौजूदा सभी दावेदार कमजोर साबित होंगे। इसलिए कैलाश विजयवर्गीय को प्रत्याशी बनाए जाने की कवायद शुरू हो गई है। हालांकि कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही किस को अपना प्रत्याशी बनाती है। यह आने वाला वक्त ही बताएगा लेकिन मौजूदा हालात को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि खंडवा लोकसभा उपचुनाव में कांग्रेस से अरुण यादव और बीजेपी से कैलाश विजयवर्गीय मैदान में आमने सामने होंगे।
आपको बता दें की मध्य प्रदेश की खंडवा लोकसभा से बीजेपी के नंद कुमार सिंह चौहान सांसद थे। जिनके  निधन के बाद यह उपचुनाव हो रहा है। उपचुनाव में नंदकुमार सिंह चौहान के बेटे हर्षवर्धन चौहान को प्रबल दावेदार माना जा रहा है वही पूर्व मंत्री अर्चना चिटनिस, पूर्व मंत्री दीपक जोशी और पूर्व इंदौर मेयर कृष्ण मुरारी मोघे को भी दावेदार बताया जा रहा है।