Braz
ब्रेकिंग
ग्रीस में छुट्टियां मनाकर लौटे हार्दिक पांड्या फतेहाबाद में 2 शिकायतों के बाद सेंट्रल बैंक की जांच में खुलासा; हैड कैशियर पर FIR युवक की तलाश करने उतरे मछुआरे की मिली लाश 10 महीने बाद किसानों ने खोला मोर्चा, लखीमपुर बना ‘मिनी पंजाब’; केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी की मांग शहर में 10 घंटे रहेंगे शाह... सुरक्षा में तैनात रहेंगे 40 आईपीएस अफसर और 3000 जवान बिहार में मौसम विभाग का अलर्ट दवा के साथ न करें इन चीजों का सेवन सबरीमाला मंदिर का इतिहास भगवान श्रीकृष्ण की हर लीला भक्तों के मन को है लुभाती निजी क्षेत्र में देश का सबसे बड़ा 2600 बेड का है अस्पताल, 64 आपरेशन थियेटर, 81 गंभीर बीमारियों के स्पेशलिस्ट डॉक्टर करेंगे इलाज

तृणमूल कांग्रेस नेत्री के खिलाफ भाजपा का भड़का आक्रोश

बिलासपुर। पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस नेत्री सुजाता मंडल द्वारा अनुसूचित जाति समुदाय के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करने को लेकर भाजपा ने मोर्चा खोल दिया है। उनके बयान से आक्रोशित जिले के भी भाजपा नेताओं ने कलेक्टर के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा।

नेत्री सुजाता मंडल पर अनुसूचित जाति समुदाय को अपमानित करने का आरोप है। इसे देखकर भाजपा ने देशभर में उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसके तहत सभी जगहों से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा जा रहा है। इसी कड़ी में भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल, सांसद अरुण साव, महामंत्री भूपेंद्र सवन्न्ी एवं जिला अध्यक्ष रामदेव कुमावत बुधवार को कलेक्टर कार्यालय पहुंचे।

इस दौरान उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस नेत्री के विस्र्द्ध देश में सामाजिक समरसता बिगाड़ने और वैमनस्य का भाव फैलाने के लिए जिम्मेदार ठहराया। उनके इस कृत्य से नाराज होकर देशभर के भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता राष्ट्रपति से तृणमूल कांग्रेस नेत्री सुजाता मंडल के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर ज्ञापन सौंप रहे हैं

इस कड़ी में यहां भाजपा नेताओं ने कलेक्टर के माध्यम से राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। इसमें तृणमूल कांग्रेस नेत्री मंडल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है। इस मौके पर अमर अग्रवाल ने कहा कि पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में तृणमूल की हार को देखते ममता बनर्जी बौखला गई हैं।

इसके चलते टीएमसी नेता गलत बयानबाजी कर देश में सामाजिक व सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। बाबा साहब आंबेडकर ने समाज के वंचित वर्गों की भलाई के लिए अपना सर्वस्व जीवन लगा दिया। ताकि उन्हें देश की मुख्यधारा में शामिल किया जा सके। लेकिन टीएमसी के नेता समाज में घृणा और विभेद की राजनीति को बढ़ावा दे रहे हैं।

Braz