Jain
ब्रेकिंग
महू में दो गुटों में विवाद के बाद बम फोड़ा; 2 की मौत, 15 से ज्यादा घायल रोटी भी बदल सकती है किस्मत डीजीपी का सिल्वर मेडल भी आज लखनऊ में देंगे एडीजी जोन,खुशी की लहर देर शाम आई सभी के पास प्रशासन फोन कॉल, 30 स्वतंत्रता सेनानियों के आश्रितों किया गया था आमंत्रित आजादी के अमृत महोत्सव के लिए रंग बिरंगी रोशनियों से सजा ग्वालियर दुगरी फेस-1 में हुआ हमला,अदालत में गवाही न देने के लिए हमलावर बना रहे थे दबाव भाजयुमो के मंत्री ने कार के सन रूफ से निकलकर झंडे की फोटो की थी पोस्ट 100 फूट ऊंचा लहरा रहा तिरंगा,लाइटों से जगमगाया शहर, दुल्हन की तरह सजी सड़कें रैली निकालकर लगाए भारत माता की जयकारे, बच्चों और ग्रामीणों ने किया समरसता भोज राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने किया ध्वजारोहण

कांग्रेस विधायक शुक्ला अब मुक्तिधाम के दौरे पर निकले

इंदौर। कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला रविवार को शहर के मुक्तिधाम का दौरा करने के लिए निकले। उन्होंने मुक्तिधाम पहुंचकर वहां काम करने वाले कर्मचारियों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए पीपीई किट सौंपी। इसके साथ ही उन्होंने इन कर्मचारियों से बातचीत कर मुक्तिधाम की व्यवस्थाओं की जानकारी ली।

शुक्ला ने कहा कि पिछले कुछ दिनों से यह तथ्य प्रमुखता के साथ उभर कर सामने आ रहा है कि संक्रमण के दौर में बड़ी संख्या में अपनी जान गंवाने वाले नागरिकों के शव मुक्तिधाम पर पहुंच रहे हैं। जब इतनी ज्यादा संख्या में शव पहुंच रहे हैं कि मुक्तिधाम की व्यवस्थाएं कमजोर साबित हो जाती है, इस स्थिति को ध्यान में रखते हुए मैंने अपने साथियों के साथ शहर के सभी मुक्तिधाम का दौरा किया।

उन्होंने अपने दौरे की शुरुआत बाणगंगा मुक्तिधाम से की। इस मुक्तिधाम पर पहुंचकर उन्होंने सबसे पहले तो वहां के कर्मचारियों से मुलाकात की और उनका इस विषम दौर में भी अपने कार्य के प्रति सजग रहने के लिए सम्मान किया। शुक्ला के द्वारा इन कर्मचारियों को कोरोना के संक्रमण से बचाव की पीपीई किट सौंपी गई। इसके पश्चात शुक्ला के द्वारा इन कर्मचारियों से मुक्तिधाम की व्यवस्था को लेकर चर्चा की गई।

भावुक हो गए कर्मचारी

जब क्षेत्र क्रमांक एक से कांग्रेस विधायक ने मुक्तिधाम पर पहुंचकर वहां के कर्मचारियों का सम्मान किया और उनसे चर्चा की तो यह कर्मचारी भावुक हो गए। इस समय मुख्य भूमिका का निर्वहन कर रहे इन कर्मचारियों की शासन प्रशासन के द्वारा कहीं कोई खैर खबर नहीं ली जा रही है। इन कर्मचारियों के प्रति संवेदनशीलता का भी अभाव है।