ब्रेकिंग
आर्थिक आधार से गरीब लोगों के आरक्षण में कटौती के विरोध में आज भाटापारा अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय जाकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा गया विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी ट्रक चोरी करने वाले 06 आरोपियो को किया गया गिरफ्तार, मंडी के पास लिंक रोड के किनारे खड़ी ट्रक को किया था चोरी, उड़ीसा से हुई बरामद रायपुर में शिवमहापुराण कथा:पंडित प्रदीप मिश्रा का प्रवचन सुनने लाखों लोग पहुंचे , अनुमान से अधिक लोगों के पहुंचने के कारण पंडित जी को कहना पड़ा घर में...

कोरोना पॉजिटिव दूल्हे ने रचाई शादी, दुल्हन समेत सात फेरे करवाने के लिए पंडित ने भी पहनी PPE किट

रतलाम: मध्य प्रदेश में कोरोना काल में एक अनोखी शादी का वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें देखा जा सकता है कि PPE किट पहनकर दूल्हा- दुल्हन सात फेरे ले रहे हैं। परिवार के और लोग भी वहां मौजूद हैं सभी ने PPE किट पहनी हुई है। इन लोगों को पीपीई किट क्यों पहननी पड़ी वजह काफी चौंकाने वाली है।  लॉकडाउन की वजह से प्रदेश भर में बैंड, बाजा और बारात पर रोक है। कम लोगों की मौजूदगी में ही फेरे लिए जा सकते हैं, ऐसे में रतलाम में हुई एक शादी चर्चा में है। यहां दूल्हा-दुल्हन ने सरकारी अफसरों की मौजूदगी में PPE ड्रेस पहनकर सात फेरे लिए।

दरअसल, प्रशासन को जानकारी मिली थी कि शहर के एक मांगलिक भवन में शादी हो रही है। दूल्हा कोरोना पॉजिटिव है। खबर पाकर तहसीलदार नवीन गर्ग शादी रुकवाने दूल्हे के घर परशुराम विहार पहुंचे। दूल्हे की कोरोना रिपोर्ट 19 अप्रैल को पॉजिटिव आई थी।

इसके बावजूद वह सात फेरे लेने जा रहा था, जिसके बाद प्रशासन ने शादी रोकने के लिए कहा, लेकिन परिवार के सदस्यों ने घर में उम्रदराज बुजुर्ग होने का हवाला देकर शादी न टालने की मिन्नत की तो अफसर भी पिघल गए। आला अधिकारियो के निर्देश पर इस शादी की परमिशन दे दी गई। शर्त यही रखी गई थी कि दूल्हा-दुल्हन पीपीई किट पहनकर शादी करेंगे। इस पर दोनों परिवार सहमत हो गए और शादी संपन्न हुई।

हालांकि दूल्हे के पिता की मानें तो प्रशासन ने बड़े बुजुर्गों के कहने पर शादी तो करवा दी, लेकिन अब वे कार्रवाई की बात कह रहे हैं। प्रशासन का कहना है कि प्रोटोकॉल को तोड़कर ये शादी की जा रही थी, जो बिलकुल भी बर्दास्त नहीं की जा सकती।

बताया जा रहा है कि दूल्हा पेशे से इंजीनियर है और वधु पक्ष रतलाम के ही महेश नगर में रहता है। शादी में वर पक्ष की ओर से 4 और वधु पक्ष की तरफ से पंडित को मिलाकर 4 लोग, यानि कुल 8 लोग इस शादी में शामिल हुए। शादी के बाद दूल्हे और दुल्हन का कहना था कि उन्हें उम्मीद नहीं थी। लेकिन बड़े बुजुर्गों की सलाह के बाद और स्थानीय प्रशासन की स्वीकृति से शादी संपन्न हो सकी और उन्हें बहुत खुशी है। इलाके में इस शादी की खासी चर्चा है।