ब्रिटेन ने कहा, अभी भारत भेजने के लिए नहीं हैं अतिरिक्त कोरोना टीके, खुद जूझ रहे हैं महामारी से

लंदन। ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने बुधवार को कहा कि ब्रिटेन को भारत को देने के लिए कोविड टीकों का कोई अतिरिक्त नहीं है क्योंकि हमारा देश खुद कोरोना वायरस की घातक लहर का सामना करता है। ब्रिटेन ने भारत को वेंटिलेटर और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर दी है, लेकिन हैनकॉक ने कहा कि ब्रिटेन वर्तमान में कोई वैक्सीन देने की स्थिति में नहीं है। हमारे पास फिलहाल यूके में वैक्सीन की कोई अतिरिक्त खुराक नहीं है

ब्रिटेन का घरेलू प्राथमिकता पर जोर

ब्रिटेन ने कहा कि वह फिलहाल कोरोना टीकों के लिए अपनी घरेलू प्राथमिकता पर जोर दे रहा है और इस चरण में भारत जैसे जरूरतमंद देशों को मुहैया कराने के लिए उसके पास अतिरिक्त डोज नहीं है। भारत में महामारी की दूसरी लहर के संदर्भ में ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जानसन के प्रवक्ता ने कहा कि इस प्रक्रिया की निरंतर समीक्षा की जा रही है। देश 495 आक्सीजन कंसंट्रेटर, 120 वेंटिलेटर आदि का एक सहायता पैकेज भेज रहा है, ताकि भारत में आपूर्ति की कमी को पूरा किया जा सके। 100 वेंटिलेटर और 95 आक्सीजन कंसंट्रेटर की पहली खेप मंगलवार तड़के नई दिल्ली पहुंची।

प्रवक्ता ने कहा कि हमने फरवरी में प्रतिबद्धता जताई थी कि ब्रिटेन को होने वाली आपूर्ति से अतिरिक्त डोज कोवैक्स खरीद पूल और जरूरतमंद देशों को दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अभी हम घरेलू मोर्चे पर जोर दे रहे हैं और हमारे पास अतिरिक्त डोज उपलब्ध नहीं है।