ब्रेकिंग
सोमवार के दिन धन लाभ होगा या जाएंगे यात्रा पर, पढ़ें, आज का अपना राशिफल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट का किया वर्चुअल भूमि पूजन कुतुब मीनार परिसर में होगी खुदाई-मूर्तियों की Iconography राष्ट्रीय स्तर के खेलों का आधारभूत ज्ञान दें विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 13 हजार 976 किसानों के खाते में 9.68 करोड़ रूपए किया अंतरण नगरीय निकाय आरक्षण को लेकर बड़ी खबर: भोपाल में भी नए सिरे से होगा आरक्षण, बढ़ सकती है ओबीसी वार्डों की संख्या छत्तीसगढ़ की जैव विविधता छत्तीसगढ़ का गौरव है : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मोतिहारी के सिकरहना नदी में नहाने के दौरान तीन बच्चे डूबे मुजफ्फरपुर में प्रिंटिंग प्रेस कर्मी की गोली मारकर हत्‍या  दो माह में 13 बार बढ़ी सीएनजी की कीमत

पूर्व अटॉर्नी जनरल सोली सोराबजी का कोरोना संक्रमण से 91 की उम्र में निधन

नई दिल्ली। भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल सोली सोराबजी का शुक्रवार रात निधन हो गया। वो 91 वर्ष के थे। पिछले कुछ दिनों से वो कोरोना वायरस संक्रमण से पीड़ित थे। करीब 70 सालों तक कानून के क्षेत्र से जुड़े रहे  सोराबजी ने देश के अटार्नी जनरल का पद दो बार संभाला। वकालत के क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए वर्ष 2002 में उन्हें पद्म विभूषण का सम्मान भी मिला था।

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण समेत अन्य वरिष्ठ नेताओं ने शोक प्रकट कर श्रद्धांजलि दी है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि उनका व्यक्तित्व महान था।

बता दें कि सोराबजी का नाम देश के बड़े मानवाधिकार वकीलों में शामिल था। उन्हें संयुक्त राष्ट्र की ओर से वर्ष 1997 में विशेष दूत के तौर पर नाइजीरिया भेजा गया था, ताकि वहां के मानवाधिकार के हालात के बारे में पता चले सके। वर्ष 1989 से 1990 तक अटॉर्नी जनरल रहे सोराबजी ने दोबारा 1998 से 2004 तक यह जिम्मेदारी निभाई थी। सोली सोराबजी का पूरा नाम सोली जहांगीर सोराबजी था। उनका जन्म मुंबई में वर्ष 1930 में हुआ था। उन्होंने 1953 में बॉम्बे हाई कोर्ट में प्रैक्टिस शुरू कर दिया था।