ब्रेकिंग
विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा सत्तापक्ष पर जमकर बरसे विधायक शिवरतन शर्मा, आरक्षण रुकवाने जो लोग कोर्ट गए उन्हें मुख्यमंत्री जी पुरस्कृत करते हैं,सत्र ... Selecting the right Virtual Info Room Supplier रायपुर विधानसभा विशेष सत्र। विधानसभा में आरक्षण बिल के दौरान ब्राह्मण नेताओं पर जमकर बरसे बलौदाबाजार विधायक प्रमोद शर्मा, उनके मुंह पर करारा तमाचा मार... Making a Cryptocurrency Beginning अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद भाटापारा नगर इकाई की हुई घोषणा मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने मंडी समिति के नए सदस्य को दिलाई शपथ, उद्बोधन में कहा भारसाधक पदाधिकारीयो की नियुक्ति के बाद से मंडी लगातार चहुमुखी विकास क... मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने धान ख़रीदी केंद्रो का निरीछन कर, धान बेचने आये किसानो से मुलाक़ात कर, धान बेचने में आने वाली समस्या की जानकारी ली, किसानों... ग्राम मर्राकोना में नवीन धान उपार्जन केंद्र के शुभारंभ अवसर पर मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा भूपेश सरकार किसानों की सरकार है ग्राम मर्राक़ोंना में नवीन धान उपार्जन केंद्र को मिली हरी झंडी मंडी अध्यक्ष सुशील शर्मा ने दी जानकारी ट्रक चोरी करने वाले 06 आरोपियो को किया गया गिरफ्तार, मंडी के पास लिंक रोड के किनारे खड़ी ट्रक को किया था चोरी, उड़ीसा से हुई बरामद

ड्रग्स केस: रिया-शोविक को नहीं मिली बेल, जमानत पर फैसला सुरक्ष‍ित

मुंबईः बॉम्बे हाईकोर्ट ने बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े ड्रग्स मामले में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती और उसके भाई शौविक तथा तीन अन्य की जमानत याचिका पर मंगलवार को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। न्यायमूर्ति सारंग वी कोटवाल ने अभियोजन और बचाव पक्ष की दलीलों को सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया।

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने जमानत की दलीलों का यह कहते हुए पुरजोर विरोध किया कि आरोपियों के खिलाफ अपराध गैर-जमानती हैं। एनसीबी की ओर से अतिरिक्त महाधिवक्ता अनिल सिंह ने न्यायालय से कहा कि सामाजिक स्थिति और विधिक ध्येय की उस पृष्ठभूमि को ध्यान में रखना होगा जिसके तहत नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोपेट्रिक सब्सटेंस अधिनियम-1985 बनाया गया है।

उन्होंने तर्क दिया कि अब तक गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी व्यक्ति एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं और यह एक सिंडिकेट है। बचाव पक्ष के अधिवक्ता सतीश मानेशिंदे ने तकर् दिया कि अभिनेत्री केवल अपने प्रेमी के लिए ड्रग्स की खरीद में शामिल थी, इसलिए मामले में धारा 27 ए लागू नहीं की जा सकती है। उन्होंने कहा कि यह जमानत योग्य मामला है।